बिकानेर : सरपंच जय सुखराम सीगड़ बने रीट परीक्षार्थियों के मददगार

 अनुठी मदद: युवा सरपंच जय सुखराम सीगड़ ने रीट परीक्षार्थियों के ठहरने-नहाने, खाने-पीने से लेकर परीक्षा सेंटर पहुंचाने में की मदद 

बिकानेर : सरपंच जय सुखराम सीगड़ बने रीट परीक्षार्थियों के मददगार


झलको न्यूज़ डेस्क बीकानेर। राज्य की सबसे बड़ी भर्ती रीट की परीक्षा 26 सितंबर को आयोजित हुई। इस बार रीट परीक्षा में सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थी दूर-दराज आए परीक्षा केंद्रों पर पहुंचने को लेकर चिंतित नहीं निश्चित नजर आए। इतना ही नहीं वहां रहने व खाने पीने के लिए भी उन्हें अधिक मसकत नहीं करनी पड़ी। दरअसल राज्य सरकार ने परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र पर पहुंचने के लिए रोडवेज बस के साथ कुछ निजी बसों का प्रबंध किया था। जिनमें परीक्षार्थियों व उनके परिजनों को प्रवेश पत्र दिखाने पर फ्री परीक्षा केंद्र के शहर पहुंचाया गया। वहीं विभिन्न सामाजिक संगठनों व भामाशाहों द्वारा परीक्षार्थियों के रहने-नहाने व खाने पीने की व्यवस्था की गई।


बीकानेर जिले में भी अनेक सामाजिक संगठनों व भामाशाहों ने मिलकर अतिथि सत्कार की पुरानी परंपरा को निभाते हुए परीक्षार्थियों की मदद करने को हाथ आगे बढ़ाए।  


माणकासर के सरपंच ने दिया जनसेवा का परिचय, 1350 से ज्यादा परीक्षार्थियों व उनके परिजनों की मदद की


बिकानेर जिले में रीट परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों को रहने, खाने-पीने व परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में कोई परेशानी न आए जिसके लिए बिश्नोई धर्मशाला में 4 दिन के लिए इंतजामात किए गए। यहां 24 से 27 सितंबर तक परीक्षार्थियों व उनके परिजनों के लिए चाय, नाश्ता, भोजन व रहने-नहाने की व्यवस्था निशुल्क उपलब्ध करवाई गई। मदद की इस अनुठी पहल का सफलतापूर्वक संचालन बज्जू पंचायत समिति के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत माणकासर के युवा सरपंच जय सुखराम सीगड़ व उनकी टीम द्वारा किया गया। 



 परीक्षार्थियों को परीक्षा के समय सबसे बड़ी चिंता दूसरे जिले में जाने के बाद रहने और परीक्षा केंद्र तक पहुंचने की होती है। उन्हें यह सब दिक्कत है बीकानेर में न देखनी पड़े, इस वास्ते यह व्यवस्था सर्व समाज के विद्यार्थियों के लिए धर्मशाला में की गई। 

जय  सुखराम सीगड़

सरपंच ग्राम पंचायत माणकासर



1350 से ज्यादा परीक्षार्थियों व उनके परिजनों के बने मददगार


150 से अधिक लड़कियों व 1200 से लड़कों तथा उनके परिजनों के लिए 4 दिनों तक रुकने और खाने पीने का इंतजाम किया गया था। इतना ही नहीं 70 से अधिक परीक्षार्थी जिनका जिनका परीक्षा केंद्र नोखा डूंगरगढ़ लुणकनसर आया था उन्हें निजी वाहनों द्वारा शिक्षा केंद्र तक पहुंचाया गया।



जिला कलेक्टर व एसडीएम ने की व्यवस्थाओं को सहारा


जिला कलेक्टर व एसडीएम ने रीट परीक्षा की मदद के लिए की गई व्यवस्था को सहारा। एसडीएम अशोक बिश्नोई ने रीट परीक्षार्थियों के लिए की व्यवस्थाओं का जायजा लिया और खाना भी खाया। उत्तम व्यवस्था प्रबंध को देखकर सरपंच जय सुखराम व उनकी टीम को बधाई दी।

SDM ASHOK BISHNOI



 ये बने मददगार


बिकानेर में रीट परीक्षा परीक्षार्थियों की मदद की इस अनुठी पहल में सरपंच जय सुखराम सीगड़ के साथ उनकी टीम में सुभाष मांझू फुलासर, अधिवक्ता सुनील खीचड़, रिछपाल सीगड़, वकील सागरमल सीगड़, राधाकिशन, विकास बेनीवाल, अधिवक्ता सुनील बेनीवाल, धर्माराम ज्याणी आदि सहयोगी रहे।

Join us on TelegramJoin us on Whatsapp

2/Post a Comment/Comments

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement