बीकानेर में धमाके के साथ फटी धरती, 100 फुट‌ चौड़ा व 60 फिट गहरा हुआ खड्डा, बना पहेली

 

 बीकानेर में धमाके के साथ फटी धरती, 100 फुट‌ चौड़ा व 60 फिट गहरा हुआ खड्डा, बना पहेली

बीकानेर में धमाके के साथ फटी धरती, 100 फुट‌ से चौड़ा 60फिट गहरा हुआ खड्डा, बना पहेली


जिले के गजनेर क्षेत्र के निकटवर्ती ग्राम रणधीसर बुर्ज में अजीबोगरीब भौगोलिक घटना देखने को मिली जिसको लेकर हर कोई असमंजस की स्थिति में है। आखिर यह घटना कैसे हुई! यह समूचे क्षेत्र में पहली बनी हुई है। घटना से जुड़े हुए वीडियो सोशल मीडिया पर सुबह से ही खूब वायरल हो रहे हैं।


बीकानेर के रणधीसर बुर्ज में जमी धंसी

बीकानेर रणधीसर बुर्ज गांव के निकट आज अलसुबह एक किसान के खेत में धमाका हुआ धमाके के साथ ही 100 फीट की चौड़ाई में जमीन फंस गई जिसकी गहराई लगभग 60 फीट से अधिक हो गई। धमाके की आवाज से से लोग सहम गए और गड्ढे को देखकर ग्रामीणों में भयभीत हो गए। गड्ढे की सूचना तुरंत प्रशासन व पुलिस को दी गई।


लगभग 2 वर्ष पहले भी इसी प्रकार धंसी थी जमीन

ऐसी ही एक अजीब भौगोलिक घटना आज से लगभग 2 वर्ष पूर्व इसी क्षेत्र में हुई थी जिस में भी इसी प्रकार जमीन धंस गई।


गजनेर पुलिस प्रशासन पहुंचे मौके पर रास्ते को किया डाइवर्ट

सूचना मिलते ही मौके पर गजनेर थाना पुलिस पहुंची। धमाके के साथ धंसी जमीन से सड़क की दूरी महज 4 या 5 फुट है। इसलिए पुलिस प्रशासन ने ने रास्ते को डाइवर्ट किया और खड्डे के चारों तरफ तार बंदी कर दी ताकि किसी भी प्रकार का हादसा होने से बचा जा सके।

भौगोलिक के घटना की सूचना मिलने पर भूगर्भ वैज्ञानिक कर्मवीर मौके पर पहुंचे और घटना की जांच में लग गए।


सागरी कुंआ भी हो सकते हैं वजह

बीकानेर के विभिन्न क्षेत्र में आज भी गांवों में सागरी कुवें देखने को मिलते हैं। जिनके बारे में कहा जाता है कि पुराने समय में यहां किसी ने सागरी कुवें जगह-जगह बनाए थे। जो कहीं आज भी देखने को मिलते हैं और कहीं-कहीं जमीन में दब गए हैं। इनकी गहराई काफी होती है और गोल खुदे होते हैं जो कच्चे होते हैं। हो ना हो इस क्षेत्र में भी ये‌ कुंए जमीन के नीचे मौजूद हो। जिसमें अचानक गैस बनने के कारण धमाका होना भी संभव है।

0/Post a Comment/Comments

Advertisement