डॉ सुनील तेतरवाल के प्रयासों बची अनेक जिंदगियां, होनहार युवाओं को डॉक्टर बनाने को प्रयासरत

 डॉ सुनील तेतरवाल के प्रयासों बची अनेक जिंदगियां, होनहार युवाओं को डॉक्टर बनाने को प्रयासरत

डॉक्टर सुनील तेतरवाल | Dr Sunil Tetarwal


शिक्षा व्यक्ति को रोजगार दिलवाने के साथ ही साथ संस्कारवान भी बनाती है। शिक्षित व्यक्ति के संदर्भ में कहा गया है : 'शिक्षित व्यक्ति स्वयं, समाज और देश के लिए बेहतर करता है।इस उक्ति को बज्जू पंचायत समिति के डॉ सुनील तेतरवाल चरितार्थ कर रहे हैं। 


डॉ सुनील तेतरवाल वर्तमान में चिकित्सा अधिकारी, CHC मोहनगढ़, जैसलमेर है। राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बज्जू, गड़ियाला के चिकित्सा प्रभारी रहते हुए डॉ तेतरवाल ने कोरोनाकाल में अपने वृत्तिक धर्म को निभाते हुए इलाके के लोगों को उत्तम स्वास्थ्य सेवाओं के साथ भयमुक्त वातावरण प्रदान करने में महत्ती भूमिका निभाई। कोरोनाकाल में वैश्विक स्तर पर छाए संकट का रोजगार व स्वास्थ्य सेवाओं पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा। जिससे ग्रामीण अंचल अछूता नहीं रहा। लोगों को राशन पानी से लेकर चिकित्सा सुविधाओं के लिए बेबस देखा गया। इन प्रतिकूल परिस्थितियों डॉक्टर तेतरवाल ने अपने मानवीय मूल्यों को दर्शाते अपने स्तर पर लोगों को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने का प्रयास किया व शिक्षित युवाओं को साथ लेकर टीम आगाज के माध्यम से कोविड-19 किट (दवाइयां) व 15 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध करवाए। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को बारी बारी से कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों को घर पर उपलब्ध करवा कर उनकी जान बचाई। 

इनसे मदद मांगने वाले हर पॉजिटिव व्यक्ति को मुफ्त दवाइयां, प्लाज्मा डोनेशन और अस्पतालों के अंदर बेड उपलब्ध करवाए।


अपनी सेवाओं के प्रति कटिबद्ध डॉ सुनील तेतरवाल अपने कार्यों को लेकर हर वक्त चर्चा में रहते हैं। विगत दिनों जाॅइन्ट हड्डी रोग से ग्रसित जोधपुर की निकिता के इलाज के लिए उसके परिवार जनों ने जब डॉक्टर तेतरवाल से संपर्क कर इंजेक्शन उपलब्ध करवाने की गुहार लगाई। जिसपर अमल करते हुए डॉक्टर तेतरवाल ने 4.32 लाख कीमत के 48 इंजेक्शन( Etrancept 50 Mg ) उपलब्ध करवाए।

डॉ सुनील तेतरवाल ने निकिता के लिए 4.32 लाख रूपए के इंजेक्शन उपलब्ध करवाकर बचाई जान

हाल ही में डॉक्टर सुनील तेतरवाल के प्रयासों से बज्जू में टीम आगाज के तत्वाधान में विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन करवाया गया जिसमें रिकॉर्ड रक्तदान हुआ। बज्जू व गडियाला में क्रमश 700 व 180 यूनिट रक्त एकत्रित हुआ। शिविर में एसपी फाउंडेशन राजसमंद की तरफ से टीम आवाज को आधुनिक सुविधाओं युक्त एक एंबुलेंस भेंट की गई। जिसे डॉ सुनील तेतरवाल व टीम आगाज  ने बज्जू पंचायत समिति के गौडू ग्राम में एंबुलेंस की आवश्यकता को देखते हुए गौडू के ग्रामीणों को सुपुर्द किया गया। निश्चित ही इस एंबुलेंस सेवा से अनेक लोगों को त्वरित चिकित्सा मिलेगी।

एंबुलेंस भेंट: टीम आग़ाज़ ने गौडू अस्पताल में एंबुलेंस की सुपुर्द


सामाजिक दायित्वों का भी बखूबी निर्वहन कर रहे हैं डॉ सुनील तेतरवाल

अपने वृत्तिक कार्यों के साथ ही साथ डॉ तेतरवाल सामाजिक व सामुदायिक कार्यों में निरंतर भागीदारी निभा रहे हैं। विगत दिनों लोहावट मैं गौशाला निर्माण हेतु इन्होंने ₹7.51 लाख का सहयोग प्रदान किया।

मिठड़िया में गौ शाला के साथ 5 मंजिला पक्षी घर (बसेरा) हेतु 5 लाख रुपए की घोषणा की है।


अब वहन करेंगे 11 होनहार छात्रों के NEET UG की तैयारी का सम्पूर्ण खर्चा

डॉक्टर सुनील तेतरवाल को अपने पेशे के प्रति इतना लगाव है कि अब उन्होंने अपने क्षेत्र के युवाओं को डॉक्टर मनाने की ठानी है। पिछले दिनों बज्जू में अनोखी स्कॉलरशिप परीक्षा का आयोजन करते हुए डॉक्टर तेतरवाल 11 होनहार का चयन किया है। जिसमें सामान्य, ओबीसी, एससी, एसटी के कुल 11 बच्चों का चयन किया गया। चयन प्रक्रिया में आर्थिक रूप से कमजोर होनहार बच्चों को महत्व दिया गया। चयनित छात्रों को विख्यात कोचिंग संस्थान CLC, Sikar (Career Line Coaching, Sikar) से NEET UG की तैयारी करवाई जाएगी। डॉक्टर तेतरवाल इन छात्रों के कोचिंग, लाइब्रेरी, रहने व खाने-पीने का सम्पूर्ण खर्चा वहन करेंगे। चयनित छात्रों की सूची निम्नलिखित है:

  1. अरुण पुत्र श्री बुधराम गोदारा
  2. लोकेश पुत्र श्री नारायणराम मेघवाल
  3. अनिल पुत्र श्री हनुमानाराम जी सैन
  4. दिनेश पुत्र श्री करनाराम कुमावत
  5. मनीषा पुत्री श्री देवकिशन
  6. जयप्रकाश पुत्र श्री अनोपाराम
  7.  मुरलीमनोहर  पुत्र श्री शंकरलाल
  8. गजेन्द्र पुत्र श्री गोपीचन्द
  9. महेश पुत्र श्री शंकरलाल
  10. दिनेश पुत्र श्री रामनारायण
  11. प्रतीक पुत्र श्री हनुमानराम चौधरी पुगल


स्वास्थ्य सेवाएं हर व्यक्ति का अधिकार है। मैं अपने वृत्तिक धर्म (डॉक्टरी पेशे) को निभा रहा हूं। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है बल्कि कमी है उन्हें दिशा देने की, उचित प्लेटफार्म प्रदान करने की जिससे वो सफलता का सर्वोच्च मुकाम हासिल कर सके। मैंने अपने क्षेत्र के युवाओं को डॉक्टर बनाने की ठानी है। इसके लिए अपने स्तर पर कुछ होनहार युवाओं की कोचिंग, लाइब्रेरी, रहने व खाने-पीने की व्यवस्था की है। मेरे डॉक्टर बनने में CLC परिवार महत्वपूर्ण मार्गदर्शक रहा इसलिए इन छात्रों के लिए  CLC परिवार से मार्गदर्शक चुना है। आशा है भविष्य में इसके सकारात्मक परिणाम हम सबके सामने होंगे।


डॉ सुनील तेतरवाल, चिकित्सा अधिकारी 

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, मोहनगढ़ (जैसलमेर)



ग्रामीण परिवेश निकलकर डॉक्टर बने सुनील तेतरवाल की टॉप प्रायरिटी ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं में बुनियादी सुधार रही। डॉक्टर बनकर अब अपने सपने, कर्त्तव्यों को पूरा करने में प्रयासरत है। वह अपनी प्रायरिटी को ध्यान में रखते हुए सामुदायिक जागृति और स्वास्थ्य सेवाओं के बुनियादी स्तर में सुधार का कार्य चिकित्सा अधिकारी के रूप में बखूबी कर रहे हैं।

झलको बिकानेर मीडिया जिले के सेवाभावी डॉक्टर सुनील तेतरवाल को दिल से सैल्यूट करता है। 

इन्हें भी पढ़ें:

Join us on TelegramJoin us on Whatsapp

1/Post a Comment/Comments

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement