UPSC CSE-2021 में 18 वीं रैंक (AIR) के साथ IAS बने श्रीगंगानगर के Ravi Sihag

 UPSC CSE-2021 में 18 वीं रैंक (AIR) के साथ IAS बने श्रीगंगानगर के Ravi Sihag 

UPSC CSE-2021 में 18 वीं रैंक (AIR) के साथ IAS बने श्रीगंगानगर के Ravi Sihag


अगर मन में कुछ कर गुजरने की चाह हो और हौसले बुलंद हो तो कामयाबी को न केवल हासिल किया जा सकता है बल्कि उसे बार-बार दोहराया भी जा सकता है। श्री गंगानगर जिले के विजयनगर के रहने वाले रवि सिहाग ने सफलता की कुछ ऐसी ही इबारत लिखी है। रवि 3 बार UPSC CSE में सफलता हासिल कर हिन्दी मीडियम के अभ्यर्थियों के लिए नजीर पेश कि है। पहले दो‌ बार  IRS और अब चौथे प्रयास में UPSC CSE 2021 में 18 वीं रैंक से आईएएस चयनित होने का गौरव प्राप्त हुआ है। 

रवि ने अपनी सफलता को दोहराया ही नहीं बल्कि अपना पद बढ़ाने में कामयाब रहे। जहां पहले सफल होकर IRS बने वहीं अब IAS बनकर जिला कलेक्टर के रूप में सेवाएं देंगे। 



 

IAS Ravi Sihag biography


मूलतः बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर जिले से संबंध रखने वाले रवि सिहाग का जन्म विजयनगर के मध्यमवर्गीय किसान परिवार में हुआ।  रवि के पिता का नाम श्री रामकुमार सिहाग है जो पेशे से किसान है।


IAS Ravi Sihag Education


रवि ने प्रारंभिक शिक्षा गांव के विद्यालय से ही ग्रहण की उसके पश्चात आगे की स्कूली शिक्षा विजयनगर व अनूपगढ़ से पूरी की। वर्ष 2015 में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण कर रवि कैरियर को लेकर नवाबी ख्वाब बुनने लगे। सिविल सेवा में जाने की ख्वाहिश पाले रवि ने UPSC की तैयारी के लिए दिल्ली का रूख किया लेकिन हिन्दी मीडियम के छात्र रहे रवि के लिए यह सफर आसान नहीं रहा। 


स्कूली और कॉलेज शिक्षा में एवरेज स्टुडेंट रहे रवि की सफलता की कहानी स्नातक के पश्चात शुरू होती है। हिन्दी मीडियम बैकग्राउंड से होते हुए भी रवि ने सिविल सेवा में जाने का‌ मन बना लिया और इसी अपनी क्षेत्रीय भाषा के पर‌ पकड़ के चलते उन्होंने UPSC EXAM में हिन्दी भाषा को वैकल्पिक विषय के रूप में चुना। पहले ही प्रयास में USPC क्लियर कर अपनी काबिलियत को साबित किया। वो कहते हैं भाषा व्यक्ति की सफलता में बाधा नहीं बनती बल्कि सहायक बनती है। कोई फर्क नहीं पड़ता आप हिन्दी मीडियम से हैं ‌या अंग्रेजी से, सफलता काबिलियत से मिलती है।

 रवि ने CSE 2021 में चौथे प्रयास में 18 वीं रैंक हासिल की। इससे पूर्व के दो प्रयासों में IRS की पोस्ट‌ हासिल कर पाए। युपीएएसी CSE 2018 में हिन्दी मीडियम के टॉपर रहे। जबकि CSE 2021 में तीसरी बार सफलता को दौहराते‌ हुए  18 वीं रैंक से आईएएस बनकर कमाल कर दिया।


IAS Ravi Sihag Inspiration


रवि सिहाग के प्रशासनिक सेवा में रेपुटेड पद प्राप्त कर समाज के लिए कुछ करने की प्रेरणा उन्हें अपने आसपास के वातावरण से मिली। दरअसल ‌साधारण किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले रवि ने पाया कि क्षेत्र की हर छोटी-बड़ी समस्याओं को लेकर कलेक्टर ऑफिस का रूख करना पड़ता है। इसे देख रवि ने भी ठाना क्यों न कलेक्टर बनकर जन सेवा की जाए। स्नातक करने के पश्चात IRS से लेकर IAS तक का सफर रवि ने सीढ़ी दर सीढ़ी तय किया। चुंकि UPSC CSE 2018 में 337 वीं रैंक प्राप्त कर IRTS बन सके लेकिन उन्हें कलेक्टर बनना था। इसलिए सफल होने के पश्चात तैयारी निरंतर जारी रखी और CSE 2021 में AIR 18 के साथ आईएएस बनने में कामयाब हुए। 

0/Post a Comment/Comments

Advertisement